राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे
राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे
|

राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे

राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे पवित्र शहर बरसाना से जुड़ी भगवान कृष्ण की प्रेमिका राधा के प्रति भक्ति व्यक्त करता है।  “राधे” की पुनरावृत्ति गहरी श्रद्धा को दर्शाती है, जो राधा के साथ आध्यात्मिक संबंध पर जोर देती है।  एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल बरसाना का उल्लेख, राधा के प्रति प्रेम और भक्ति की अभिव्यक्ति में एक पवित्र संदर्भ जोड़ता है।  गीत ईश्वर के प्रति हार्दिक विनती व्यक्त करते हैं, भक्ति के सार को संक्षिप्त लेकिन भावनात्मक रूप से गुंजायमान तरीके से दर्शाते हैं।

राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे

राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे लिरिक्स

जय राधे-राधे, जय राधे-राधे,
बृजभान दुल्हनिया राधे राधे,
भक्तों की प्यारी राधे-राधे,
हो श्यामा प्यारी राधे राधे,
हरिदास दुलारी राधे राधे,
रस्को की प्यारी राधे राधे,
हमारी प्यारी राधे राधे,
तुम्हारी प्यारी राधे राधे,
हम सबकी प्यारी राधे राधे,
हो प्यारी प्यारी राधे राधे,
जय राधे..

बृंदावन में राधे-राधे,
सुनरक गांव में राधे-राधे,
कालीदेश पर राधे-राधे,
अद्येदापत में राधे-राधे,
तान गली में राधे-राधे,
मन गली में राधे-राधे,
ओमन गली में राधे-राधे,
गोकुंज गली में राधे-राधे,

शिव कुंज में राधे-राधे,
प्रेम गली में राधे-राधे,
श्रृंगार बट में राधे-राधे,
चीर घाट में राधे-राधे,
किशी घाट पर राधे-राधे,
अजिवदीप में राधे राधे,
बंदी बात में राधे-राधे,
ज्ञान गुबड़ी राधे राधे,
श्री राधे राधे
ब्रह्म कुंड में राधे-राधे,
ईश्वर महादेव राधे-राधे,
श्री बांकेबिहारी राधे-राधे,
शनिदेव बिहारी राधे राधे,
मदन मोहनजी राधे राधे,
गोपीनाथजी राधे-राधे,
राम दामोदर राधे राधे,
राधा विनोद जी राधे राधे,
साक्षी गोपालजी राधे-राधे,
राधा माधवजी राधे-राधे,
श्री राधावल्लभजी राधे राधे,
श्री युगल किशोरीजी राधे-राधे,
अष्ट सखजी राधे राधे,
अटल बन में राधे-राधे,
बिहार बन में राधे-राधे,
गौ चरण में राधे-राधे,
गोपाल बन में राधे-राधे

बृंदावन का कण कण बोले श्री राधा
श्री यमुनाजी की लहरें बोले श्री राधा राधा,

श्री राधा राधा श्री राधा राधा,
श्याम सुन्दर की बंसी बोले श्री राधा राधा।
ब्रज की लता वात बोले श्री राधा राधा।

भूमि तत्व जल तत्व अग्नि तत्व वायु तत्व,
ब्रह्म तत्व व्योम तत्व विष्णु तत्व
संकल सिद्धि तत्व आनंद प्रसिद्धि तत्व,
नारद सुरेश तत्व शिव तत्व गोरी है।

प्रेमी कहे नाग और किन्नर को तत्व देख्यो,
शेड और महेश तत्व मिलती-जुलती जोड़ी है,
तव के तत्त्व जगजीवन श्री कृष्णचन्द्र,
और कृष्ण कोहू तत्व बृजभान की किशोरी है,
और कृष्ण कोहू तत्व में राधिका किशोरी है।
श्री बृंदावन बिहारी लाल की जय,
श्री शनि बिहारी लाल की जय,
श्री राधा रानी की जय.

निष्कर्ष

गीत “राधे-राधे-राधे बाराने वाली राधे” बरसाना शहर से जुड़ी भगवान कृष्ण की प्रेमिका राधा के प्रति भक्ति व्यक्त करता है। “राधे-राधे” की पुनरावृत्ति एक गहरे आध्यात्मिक संबंध पर जोर देती है। भक्त आशीर्वाद मांगता है और राधा और कृष्ण के बीच दिव्य प्रेम का जश्न मनाता है। बरसाना का उल्लेख गीत में एक भौगोलिक और सांस्कृतिक संदर्भ जोड़ता है, जो गीत के भावनात्मक और भक्ति पहलू को बढ़ाता है। कुल मिलाकर, गीत राधा के प्रति प्रेम और श्रद्धा की हार्दिक अभिव्यक्ति व्यक्त करते हैं।

Song Title: राधे राधे राधे बरसाने वाली राधे.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *