ganesh aarti
ganesh aarti
|

ganesh aarti

Ganesh Aarti is a devotional song dedicated to Lord Ganesha, the revered Hindu deity known as the remover of obstacles. Sung with deep devotion, it seeks blessings, protection, and success. The lyrics express gratitude and praise, fostering a spiritual connection with Lord Ganesha during religious ceremonies and rituals.

jai ganesh aarti

jai ganesh aarti

ganesh aarti lyrics

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी
एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी
माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी
माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी

एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी
एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी
माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी
माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी

पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा
पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया
अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया
अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया

सुर शाम शरण आये सफल कीजे सेवा
सुर शाम शरण आये सफल कीजे सेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

बिनन की लाज राखो शंभू सूत वारी
बिनन की लाज राखो शंभू सूत वारी
कामना को पूरा करो जग बली हारी
कामना को पूरा करो जग बली हारी

बिनन की लाज राखो शंभू सूत वारी
बिनन की लाज राखो शंभू सूत वारी
कामना को पूरा करो जग बली हारी
कामना को पूरा करो जग बली हारी

बिनन की लाज राखो शंभू सूत वारी
कामना को पूरा करो जग बली हारी
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

jai ganesh aarti lyrics pdf download

Conclusion

The Ganesh Aarti, a devotional hymn dedicated to Lord Ganesha, concludes with heartfelt reverence. As devotees sing praises, they seek the removal of obstacles and blessings for a harmonious life. The rhythmic chants echo gratitude, celebrating the divine presence. In these concluding verses, the faithful express devotion, seeking Ganesha’s guidance and protection on their spiritual journey.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *